More
    31.7 C
    Delhi
    Saturday, April 20, 2024
    More

      अयोध्या श्रीराम मंदिर दर्शन ई-गाइड : वो सबकुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है | संपूर्ण जानकारी | 2YoDo विशेष

      22 जनवरी 2024 को अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा हो चुकी है। यदि आप भी अयोध्या जाने का प्लान कर रहे हैं तो 2YoDoINDIA की इस अयोध्या ई-गाइड में आपको मिलेगी संपूर्ण जानकारी। इसमें वो सभी जानकारियां संकलित की गई हैं, जो अयोध्या पहुंचने से लेकर शहर में घूमने तक में मददगार साबित होंगी।

      राम मंदिर दर्शन

      राम मंदिर कब खुलता है?

      सुबह- 6.30 से दोपहर 12.00 बजे तक
      दोपहर- 2.30 से रात 10.00 बजे तक (समय में परिवर्तन संभव)

      मंदिर में दर्शन कैसे होंगे?

      • राम मंदिर परिसर के मुख्य प्रवेश द्वार से मंदिर की दूरी करीब 200 मीटर है। यहां से मंदिर तक पहुंचने के लिए बुजुर्गों और विकलांगों के लिए व्हीलचेअर की सुविधा भी रहेगी।
      • मंदिर में आपको सिहं द्वार होते हुए 32 सीढ़ी चढ़कर राम मंदिर में प्रवेश मि लेगा। इसके बाद आप पांच मंडप पार करके गर्भ गृह में रामलला के दर्शन 30 फीट दूरी से कर पाएंगे।

      रामलला की आरती का समय क्या है?

      • मंगला आरती- सुबह 4.30 बजे
      • शृंगार आरती- सुबह 6.30 से 7.00 बजे
      • भोग आरती- 11.30 बजे
      • मध्यान्ह आरती- दोपहर 2.30 बजे
      • संध्या आरती- शाम 6.30 बजे
      • शयन आरती- रात 8.30 से 9.00 बजे
      • रामलला के वीआईपी दर्शन और मंगला व शृंगार आरती के लिए श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने अभी कोई व्यवस्था घोषित नहीं की है। शृंगार, भोग और संध्या आरती में भक्त शामिल हो सकेंगे।
      • भगवान दिन में ढाई घंटे (दोपहर 12 से ढाई बजे तक) विश्राम करेंगे। इस दौरान गर्भ गृह के पट बंद रहेंगे।

      आरती में कैसे शामिल हो सकते हैं?

      पास की ऑफलाइन व्यवस्था

      आरती में शामिल होने के नियम ट्रस्ट तय कर रहा है। अभी ट्रस्ट द्वारा पास बनाया जाता है। ऑफलाइन पास श्रीराम जन्मभूमि कैंप ऑफिस से बनता है। इसके लिए आईडी प्रूफ देना अनिवार्य होता है।

      ALSO READ  How to Update Your Aadhaar Card Supporting Documents Free on UIDAI Website Till 30th September 2023 | Step-by-Step Guide
      पास की ऑनलाइन व्यवस्था

      श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन पास के लिए रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है, हालांकि अभी यह व्यवस्था एक्टिव नहीं हुई है। 27 जनवरी से व्यवस्था सामान्य होने की संभावना है। इसके बाद ही आप ऑनलाइन बुकिग कर पाएंगे।

      वीआईपी दर्शन की क्या व्यवस्था है?

      मंदिर में वीआईपी दर्शन की कोई आधिकारिक व्यवस्था, टिकट या शुल्क नहीं है। अभी व्यवस्थाएं तय की जा रही हैं।

      मंदिर में प्रसाद क्या मिलेगा?

      राम मंदिर में भक्तों को ‘इलायची दाने’ का प्रसाद दिया जाएगा। यह चीनी और इलायची को मिलाकर बनाया जाता है। मंदिर परिसर में ही भक्तों को नि :शुल्क प्रसाद की व्यवस्था है।

      प्रसाद कहां से मिलेगा?

      सभी भक्तों को प्रसाद बांटने के लिए मशीन लगाई गई है। ये मशीनें परिसर में दर्शनार्थियों के वापसी के रास्ते पर स्थापित हैं। अभी शुल्क के साथ प्रसाद की कोई व्यवस्था मंदिर में नहीं है।

      चढ़ाने के लिए प्रसाद ले जा सकते हैं?

      भक्त भी विशेष अनुमति से शाकाहारी और शुद्ध मिठाई और मेवे आदि का भोग लगवा सकते हैं। सुरक्षा कारणों से रामलला के मंदिर में भगवान को अर्पित करने के लिए नारियल, फूल माला, शृंगार या कोई और चीज भक्त नहीं ले जा सकेंगे।

      मंदिर में अंदर क्या ले जा सकेंगे?

      मंदिर दर्शन के वक्त आप अंदर केवल पैसा और चश्मा जैसी जरूरी चीजें ही ले जा सकेंगे। अन्य वस्तुओ के लिए दर्शन मार्ग पर लाॅकर की सुविधा है।

      कैसे पहुंचें अयोध्या?

      एयर कनेक्टिविटी

      अयाेध्या पहुंचने के लिए देश के इन प्रमुख शहरों से फ्लाइट-

      शहरएयर लाइंसफ्लाइट का समयअयाेध्या पहुंचेगी
      दिल्लीइंडिगो (नियमित)दिन में 11.55दोपहर 1.15 पर
      दिल्लीएअर इंडिया एक्स.
      स्पाइसजेट
      सुबह 10 बजे
      सुबह 8:40 बजे
      सुबह 11.20
      सुबह 10:00 बजे 1 फरवरी से
      मुंबईइंडिगो
      स्पाइसजेट
      दोपहर 12.30 बजे
      सुबह 8:20 बजे
      दोपहर 2.45 बजे
      सुबह 10:40 बजे 2 फरवरी से हफ्ते में 6 दिन
      अहमदाबादइंडिगो
      स्पाइसजेट
      सुबह 9.10 बजे
      सुबह 6:00 बजे
      सुबह 11 बजे
      सुबह 8:00 बजे 1 फरवरी से
      चेन्नईस्पाइस जेट 1 फरवरी सेदोपहर 12.40 बजेदोपहर 3.15 बजे
      बेंगलुरूएअर इंडिया एक्स.
      स्पाइसजेट
      सुबह 7.30 बजे (बुध) | सुबह 8.05 (सोम, गुरु)
      सुबह 10:50 बजे
      सुबह 10 बजे | सुबह 10.35 बजे
      दोपहर 1:30 बजे 2 फरवरी से हफ्ते में 4 दिन
      कोलकाताएअर इंडिया एक्स.दोपहर 12.45 बजे (बुध)
      1.25 बजे (सोम और गुरु)
      दोपहर 2.30 बजे
      दोपहर 3.10 बजे
      दरभंगास्पाइसजेटसुबह 11:20 बजेदोपहर 12:30 बजे 1 फरवरी से
      जयपुरस्पाइसजेटसुबह 7:30 बजेसुबह 9:15 बजे 1 फरवरी से
      पटनास्पाइसजेटदोपहर 2:25 बजेदोपहर 3:25 बजे 1 फरवरी से
      पुणेआकासासुबह 8:50 बजेदोपहर 12:55 बजे 15 फरवरी से वाया दिल्ली
      ग्वालियरएअर इंडिया एक्स.सुबह 8:15 बजेसुबह 11:20 बजे 16 जनवरी से वाया दिल्ली

      रेल कनेक्टिविटी

      बड़े शहरों से अयोध्या पहुंचने वाली कुछ प्रमुख ट्रेनें और उनका समय-

      ALSO READ  भाग्य, समृद्धि और शांति के प्रतीक हैं हथेली पर बने चतुर्भुज | जानिए पूरी जानकारी | 2YoDo विशेष
      शहरट्रेन का नामप्रस्थानअयोध्या आगमनहफ्ते में कब
      दिल्लीवंदे भारत एक्स.
      अयोध्या एक्स.
      कैफियत एक्स.
      6:10 सुबह
      6:20 शाम
      8:25 शाम
      2:30 दोपहर
      7:15 सुबह
      6:56 सुबह
      सोम, मंगल, गुरु, शुक्र, शनि, रवि
      रोजाना
      रोजाना
      अमृतसरसरयू यमुना एक्स.1:05 दोपहर8:51 सुबहसोम, बुध, शनि
      अदमदाबादसाबरमती एक्स.11:10 रात4:22 सुबहसोम, मंगल, गुरु, शनि
      जयपुरमरुधर एक्स.1:40 दोपहर4:43 सुबहसोम, गुरु, शनि
      भाेपालYPR GKP एक्स.3:35 रात4:24 दोपहरशनि
      इंदौरIND B PNBE एक्स1:55 दोपहर7.45 सुबहशनि
      मुंबईसाकेत एक्स.6.00 सुबह8.00 सुबहबुध, शनि
      कोलकाताKOAA JAT एक्स11.45 दोपहर6.21 सुबहरोजाना
      बेंगलुरुYPR GKP एक्स11.40 रात4.24 दोपहरबुध

      कई विशेष ट्रेन

      • रेलवे ने देश के विभिन्न हिस्सों को अयोध्याजी से जोड़ने वाली 1,000 से अधिक विशेष ट्रेनें चलाने की योजना बनाई है। ये ट्रेनें 19 जनवरी से 100 दिनों तक चलाने की योजना है। इन ट्रेनों के बारे में आप अपने शहरों से पता कर सकते हैं।
      • दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु, पुणे, कोलकाता , नागपुर, लखनऊ, जम्मू और कश्मीर सहित अन्य शहरों से ट्रेन चलाने की योजना है।

      सड़क कनेक्टिविटी

      अयोध्या के लिए बड़े शहरों से सड़क मार्ग से कनेक्टिविटी इस प्रकार है :

      सड़क और बस से कनेक्टिविटी : सभी बड़े शहरों से अयोध्या सड़क मार्ग से जुड़ी हुई है। यहां आप अपने वाहनों से भी जा सकते हैं और सरकारी व निजी बसों से भी। दिल्ली से अयोध्या के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की UPSRTC की बस सेवा भी उपलब्ध है।

      शहरदूरी (KM)यात्रा में लगने (घंटे)
      दिल्ली68811
      मुंबई160038
      जयपुर71013
      अदमदाबाद135034
      इंदौर93019
      भोपाल78113
      चण्डीगढ़91415
      रायपुर78219
      रांची66720
      पटना41711

      उत्तरप्रदेश के शहरों से दूरी व यात्रा समय : उत्तरप्रदेश के इन प्रमुख पर्यटन शहरों से भी अयोध्या के लिए टैक्सी और बसें आसानी से उपलब्ध हैं-

      ALSO READ  Do You Know Why Toilet Doors are Cut From Bottom in Malls and Offices | Answer Inside
      शहरदूरी (KM)यात्रा में लगने (घंटे)
      आगरा46811
      लखनऊ1343
      गोरखपुर1333
      प्रयागराज1674
      वाराणसी2184

      अपने वाहन से अयोध्या जाएं तो

      • सामान्य रूप से आप अपने वाहन से भी अयोध्या जा सकते हैं। हनुमानगढ़ी और कनक भवन का मार्ग संकरा होने के कारण यलो जोन से वाहन पास कराना होता है। शेष अयोध्या में काेई दिक्कत नहीं है।
      • शहर में एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए टैक्सी मिल जाती है। जन्मभूमि स्थान पर ई-गोल्फ कार्ट की व्यवस्था है।
      • अयोध्या के सभी प्रवेश मार्गों पर वाहन पार्किंग बनाई गई है।

      कहां रुक सकते हैं?

      अयोध्या में राम मंदिर के पास पांच किमी के दायरे में रुकने के प्रमुख स्थान इस तरह हैं : अयाेध्या में ठहरने-रुकने की व्यवस्था लगातार बढ़ रही है। आसपास 5KM के दायरे में ही बहुत अच्छी व्यवस्था है। राम मंदिर के आस-पास ठहरने के मौजूद चुनिदां स्थानों के बारे में-

      स्थानकितने रूमकिराया (Rs.)मंदिर से दूरी (KM)
      जैन धर्मशाला50500 से 20001.5
      राम वैदेही मंदिर धर्मशाला2001000 से 30002
      कनक महल501000 से 30002
      राम होटल501000 से 30001
      रामप्रस्थ होटल401000 से 30002
      रमीला कुटीर2550002
      रामायणम होटल40-5020,000 तक3

      5 से 7 कि लोमीटर के दा यरे में यह होटल भी : पंचशील होटल, शान-ए-अवध होटल, कृष्णा होटल, तारा जी रिसार्ट आदि। इन सभी होटलों का किराया एक हजार से लेकर 10 हजार तक है। यह सभी राम मंदिर से 5 से 7 KM दूर हैं।

      अयोध्या में भोजन के बारे में खास बात : पूरी अयोध्या शाकाहारी है। कई होटलों में बिना प्याज और लहसुन से बना भोजन भी मिलता है। जानकी महल और जैन धर्मशाला में भी बिना प्याज और लहसुन का भोजन मिलता है।

      प्रमुख दर्शनीय स्थल

      अयोध्या में भगवान राम से जुड़े वो प्रमुख स्थान जो आप देख सकते हैं : अयोध्या में राम मंदिर दर्शन के अलावा भगवान राम से जुड़े और भी कई स्थान हैं। इन स्थानों पर भगवान राम के चिन्ह मौजूद हैं। ये स्थान राम मंदिर के आसपास ही हैं-

      स्थलराम मंदिर से दूरीमहत्वखुलने का समय
      हनुमानगढ़ी500 मीटरराम मंदिर जाने से पहले हनुमान मंदिर के दर्शन करने की परंपरा रही है। मंदिर में जाे प्रतिमा है, उसमें हनुमान जी मां अंजनी की गोद में हैं।सुबह 4.00 बजे से रात 10.00 बजे तक खुला रहता है।
      छोटी देवकाली1 KMयह माता सीता की कुल देवी का मंदिर है। मान्यता है कि उन्होंने यहां माता पार्वती की प्रतिमा स्थापित की थी और वे यहां पूजा करने आती थीं।सुबह से रात तक
      कनक भवन1 KMमाता कैकेयी ने श्रीराम और देवी सीता को यह भवन उपहार में दिया था । यह उनका व्यक्तिगत महल था । 1885 में ओरछा रियासत की महारानी वृषभानु जूदेवी ने वर्तमान भवन का निर्माण करवाया था । मंदिर के मुख्य गर्भ गृह में श्रीराम और माता सीता जी की प्रतिमा स्थापित है।सुबह 9.00 बजे से दोपहर 11. 30 बजे तक और शाम 4.30 से रात 9.30 तक।
      सीता रसोई1 KMराम जन्म भूमि के उत्तर-पश्चिमी कि नारे पर स्थित सीता की रसोई एक प्राचीन रसोई है। इसका उपयोग सीता जी किया करती थीं।सुबह से रात तक।
      सरयू तट2 KMअयोध्या में 14 प्राचीन घाट हैं। हर घाट से जुड़ी कुछ प्राचीन मान्यताएं है। पर्व के समय इन घाटों पर भक्त पवित्र स्नान करने जुटते हैं।
      मणिराम दास छावनी1 KMइस मंदिर में आमने-सामने दो हवेलियां हैं। यहां के वाल्मिकी जी भवन की दो मंजिलों की दीवारों पर संपूर्ण वाल्मीकि रामायण अंकित है।
      रामलला सदन1 KMअयोध्या में यह पहला ऐसा मंदिर है, जिसे द्रविड़ शैली में बनाया
      गया है। यह भगवान श्रीराम के कुलदेवता भगवान विष्णु के स्वरूप भगवान रंगनाथन का मंदिर है।
      दशरथ महल700 मीटरराजा दशरथ ने यह महल बनवाया था, हालांकि बाद में इसका
      कई बार जीर्णोद्धार हुआ। यहां भगवान राम, माता सीता, लक्ष्मण और भरत की मूर्ति यां हैं।
      रंग महल1 KMइस मंदिर के संत खुद को सीता जी की सखी मानते हैं। मान्यता है कि विवाह के बाद इस मंदिर में माता सीता की मुंह दिखाई रस्म हुई थी।

      अयोध्या के पास यह 4 तीर्थ भी देखें :

      स्थलमहत्वअयोध्या से दूरी
      भरत कुंडश्रीराम की पादुका रखकर भरत ने यहीं से 14 साल शासन कि या।16 KM
      गुप्तारघाटयहीं श्रीराम ने जल समाधि ली थी। वे यहीं से साकेतधाम चले गए थे।10 KM
      मखभूमियहीं श्रीराम के जन्म के लिए राजा दशरथ ने यज्ञ कि या था।20 KM
      सूर्य कुंडयहां भगवान सूर्य का मंदिर और कुंड है।3 KM

      अयोध्या के लिए कितने दिन का प्लान : अयोध्या के लिए कम से कम पूरे एक दिन का समय रखें। ठीक से अयोध्या
      के स्थानों को देखने के लिए कम से कम तीन दिन का प्लान बनाना चा​हिए।

      अयोध्या में साल के प्रमुख उत्सव

      • अयोध्या में रामनवमी, दीपावली दोनों पर खास उत्सव का माहौल होता है। इन दिनों यहां भक्त बड़ी संख्या में आते हैं।
      • चैत्र, कार्तिक और सावन में यहां बड़ी संख्या में भक्त आते हैं।
      • सावन झूला मेला (जुलाई-अगस्त) यहां देखने लायक होता है।
      • अक्टूबर-नवंबर में 14 कोसी परिक्रमा के साथ यहां कार्तिक मेला लगता है।
      • हर माह पूर्णिमा पर सरयू स्नान के दौरान यहां उत्सव का माहौल रहता है।

      10 टिप्स अयाेध्या में काम आएंगे

      1. आप राम जन्मभूमि परिसर के अंदर निजी सामान (फोन, वॉलेट, चार्जर, पेन, नोटबुक) नहीं ले जा सकते। परिसर में लॉकर नि :शुल्क है।
      2. पूरे शहर के लिए ई-बसें शुरू की जा रही हैं। इसके अलावा गोल्फ कॉर्ट भी उपलब्ध रहेगी, जिसका किराया प्रति व्यक्ति 50 रुपए रहेगा।
      3. मौसम और पर्व के लिहाज से अयोध्या जाने का सबसे अच्छा समय मार्च, अप्रैल, मई, अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर के महीने हैं।
      4. राम मंदिर में बुजुर्गों और दिव्यांग भक्तों के लिए व्हील चेयर और लिफ्ट की व्यवस्था नि :शुल्क उपलब्ध है।
      5. अयोध्या के अलावा लखनऊ में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। यह अयोध्या से लगभग 152 कि लोमीटर दूर है। गोरखपुर, प्रयागराज और वाराणसी हवाई अड्डों के बीच की दूरी क्रमशः 158 कि मी, 172 कि मी और 224 कि मी है।
      6. रामलला के मंदिर के ठीक बाहर अमावा पटना के महावीर मंदिर ट्रस्ट की राम रसोई है। राम रसोई में रामलला के दर्शन करने वाले भक्तों को यहां आधार कार्ड दिखाने से नि :शुल्क भोजन मिलता है।
      7. अयोध्या के लिए लखनऊ अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से टैक्सी मिल जाएगी। करीब 3000 रुपए में टैक्सी बुक करके लखनऊ से अयोध्या जा सकते हैं।
      8. अयोध्या में राममंदिर में दर्शन के दौरान कम से कम 5 चौकियां हैं, जहां आपको सुरक्षा जांच से गुजरना पड़ सकता है।
      9. अगर अचानक किसी चिकित्सा सहायता की जरूरत पड़ती है तो राम मंदिर का चिकित्सा शिविर है। इसके अलावा नजदीक ही श्रीराम अस्पताल भी है।
      10. हेल्प लाइन: सहायता के लिए रामजन्म भूमि थाना SHO से 9454403310 पर और रामजन्म भूमि हेल्प डेस्क- 05278 292000 पर संपर्क कर सकते हैं।

      Related Articles

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      Stay Connected

      18,752FansLike
      80FollowersFollow
      720SubscribersSubscribe
      - Advertisement -

      Latest Articles