More
    33.1 C
    Delhi
    Wednesday, July 17, 2024
    More

      || पोता एक दिया पहले ही ||

      पोता एक दिया पहले ही

      पोता एक दिया पहले ही पोती दे भगवान मुझे,
      पोती की दादी बनने का दे दे दाता दान मुझे ।

      लड़का और लड़की दोनों से ही तो दुनिया चलती है,
      मेरे वंश में लड़का भर है बात मुझे ये खलती है ।
      वंश मेरा पूरा कहलाये,दे दो ये सम्मान मुझे,
      पोता एक दिया पहले ही पोती दे भगवान मुझे ।

      फ्रॉक पहन कर जब वो मेरे बेटे के घर डोलेगी,
      धोती मेरी पकड़ेगी और दादी दादी बोलेगी ।
      उसकी मीठी बोली सुन मरना होगा आसान मुझे,
      पोता एक दिया पहले ही पोती दे भगवान मुझे ।

      कन्या आने से पड़ोस की कन्याऐं घर आयेंगी,
      खेल खेल में गुड्डे गुड़िया का वो ब्याह रचायेंगी ।
      देख देख आ जायेगा अपने बचपन का ध्यान मुझे,
      पोता एक दिया पहले ही पाती दे भगवान मुझे ।

      शहजादे और परी की कथा मैं जब तब उसे सुनाऊँगी,
      थोड़ी और बड़ी होगी मैं अपने साथ सुलाऊँगी ।
      लगेंगी उसकी बातें प्यारी और मीठी मुस्कान मुझे,
      पोता एक दिया पहले ही पोती दे भगवान मुझे ।

      लेखिका
      श्रीमती प्रभा पांडेय जी
      ” पुरनम “

      FOR MORE POETRY BY PRABHA JI VISIT माँ में तेरी सोनचिरैया

      ALSO READ  || जैविक हथियार ||

      Related Articles

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      Stay Connected

      18,840FansLike
      80FollowersFollow
      721SubscribersSubscribe
      - Advertisement -

      Latest Articles